आदित्यनाथ को सुप्रीम कोर्ट का झटका, आपातकाल में केशव प्रसाद रहेंगे यूपी के मुख्यमंत्री

अक्षत नाम के एक व्यक्ति और १२ और लोगों ने जो की १ साल पहले तक खुद हिन्दू युवा वाहिनी के राष्ट्रीय कार्यकर्ता के रूप में काम कर रहा था सुप्रीम कोर्ट में बीते
yogia-adityanath-up-cm-supreme-court-april-fool-keshav-prasad-maurya-taaza-tadka

योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद ही नहीं बल्कि पहले से भी लोग इनके विरोध में बातें करने लगे थे | योगी आदित्यनाथ के द्वारा गोरखपुर और पूर्वी उत्तर प्रदेश में दंगे करवाने के आरोप लगते रहे हैं|

हालांकि चार्ज शीट दाखिल होने के बाद भी ठोस सबूत नही होने की वजह से आज तक इन पर एक्शन नही लिया गया था|

gorakhpur danga -april-fool-content-tricks-taaza-tadka
Gorakhpur Riots September

किन्तु अब अक्षत नाम के एक व्यक्ति ने जो की १ साल पहले तक खुद हिन्दू युवा वाहिनी के राष्ट्रीय कार्यकर्ता के रूप में काम कर रहा था|

उसने और १२ और लोगों ने सुप्रीम कोर्ट में बीते शुक्रवार को एक याचिका दाखिल की है जिसमे उसने बताया है कि योगी आदित्यनाथ ने ही मुम्बई- गोरखपुर गोदाम एक्सप्रेस को जलाने का आदेश दिए थे इस बाबत उनलोगों के पास एक नही बल्कि कुल ८ विडियो क्लिप्स हैं |

ज्ञात हो कि, योगी आदित्यनाथ पर इस दंगे के अलावा भी अन्य कई दंगों और ह्त्या के आरोप पहले भी लग चुके हैं जो आज तक साबित नही हो पाए हैं|

3 बेंच के सुप्रीम कोर्ट से फिलहाल ये याचिका किया गया है कि योगी आदित्यनाथ जो की वर्तमान समय में यूपी के मुख्यमंत्री पद पर आसीन हैं उनको पेश किये गए सबूत के आधार पर इस पद से पूरी तरह से निष्काषित किया जाए |

supreme-court-judge-april-fool-taaza-tadka-trick

हालाँकि सुप्रीम कोर्ट ने योगी के दोषी होने के बाबत अभी फैसला नही सुनाया है लेकिन जब तक फैसला ना आ जाए तब तक उनको इस पदवी से आपातकालीन स्थिति में त्यागपत्र पार्टी दफ्तर में और एक कॉपी सुप्रीम कोर्ट में सौपने को कहा है|

इतने जल्दी फिलहाल आनन् फानन में उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद का नाम न्यायलय ने बीजेपी सरकार को सुधाया है | ताकि इस व्यवधान में यूपी की जनता को कोई दिक्कत ना आये|

बहरहाल इस विडियो क्लिप को देखने के बाद न्यायालय जिस भी सच या झूठ का समर्थन करे लेकिन हम आपको एक बात बता दें की अभी तक आपने जो कुछ भी पढ़ा उसमे एक रत्ती भी सच्चाई नही है | जी हाँ , हमने बना दिया है आपको अप्रैल फूल | यदि आप भी किसी और को अप्रैल फूल बनाना चाहते हैं तो जल्दी से इस खबर को दूसरों तक पहुचाएं आखिर कोर्ट फैसला ले भी तो क्या ?