योगी आदित्यनाथ ने यूपी के सरकारी दफ्तरों में पान व गुटखा पर लगाया प्रतिबन्ध

योगी आदित्यनाथ ने २ दिन जो एक्शन प्लान दिया वो काफी काबिल-ए-तारीफ़ भी है| उन्होंने अपने पहले भाषण में ही कहा की उत्तर प्रदेश को वो प्रधानमन्त्री मोदी
yogi-adityanath-banned-pan-masaala-gutka-up

देश में मोदी और प्रदेश में योगी का नारा जिस दिन से योगी आदित्यनाथ के नाम की घोषणा यूपी मुख्यमंत्री के तौर पर हुई है उसी दिन सबकी जुबान पर छाया हुआ है|

और योगी आदित्यनाथ ने २ दिन जो एक्शन प्लान दिया वो काफी काबिल-ए-तारीफ़ भी है| उन्होंने अपने पहले भाषण में ही कहा की उत्तर प्रदेश को वो प्रधानमन्त्री मोदी के सपनों का प्रदेश बनाएंगे और बहुत साड़ी चीजें बंद कर देंगे|

उन्होंने जहां एक ओर मुख्यमंत्री बनते ही एंटी-रोमियो फ़ोर्स को पुरे प्रदेश में एक्टिव कर दिया है वही दूसरी ओर प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत मिशन को पुरे प्रदेश में लागू करना शुरू भी कर दिया है|

जी हाँ हुआ दरअसल यूँ कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शपथ लेने के दूसरे दिन ही लखनऊ में एक सरकारी दफ्तर में पहुँचे वहां वे जैसे ही पहुँचे किसी कोने में उनको पान थूका हुआ मिला| इस पर डाँट पड़ी तो कर्मचारी ने कहा कि माफ़ कर दीजिये कूड़ेदान ना होने की वजह से ये गलती हो गयी|

योगी आदित्यनाथ ने अपने गुस्से को तो वहाँ उस कर्मचारी पर बरसने से रोक दिया लेकिन उनका गुस्सा सरकारी दफ्तर में काम खाने वाले हर उस कर्मचारी पर फुट पड़ा जो दफ्तर में पान या गुटखा खाता है|

झट से योगी आदित्यनाथ ने इस बाबत एक्शन लेते हुए पुरे उत्तर प्रदेश में निर्देश जारी करते हुए कहा कि “अब से यूपी में सरकारी दफ्तर में पान या गुटखा खाना बंद”|

आपको बता दे कि यूँ तो पुरे देश में पब्लिक स्थानों पर सिगरेट पीना गैरकानूनी है लेकिन फिर भी भारत में इस बात को ज्यादातर लोग इस बात को नही ध्यान रखते हैं और लगातार नियम उलंघन करते रहते हैं|

इन सबमें अब देखने वाली बात ये है कि पूर्ण बहुमत दिला कर योगी आदित्यनाथ को यूपी की राजगद्दी पर बैठाने वाली जनता योगी के इस स्वच्छता अभियान में कितना सहयोग करती है| फिलहाल ताज़ा तड़का योगी आदित्यनाथ के इस फैसले की भरपूर सराहना करता है|